शुक्रवार, 25 मई 2012

मार्क ज़करबर्ग को बधाई सन्देश

मार्क ज़करबर्ग और उसकी घरवाली
मार्क भाई, अखबार में तेरी फोटो देखी, बड़ी ख़ुशी हुई कि तेरा ब्याह हो गया, पर यार, ये चिंकी क्या पसंद आई तुझे? गोरी मेमों की कमी हो गयी थी क्या तेरे गाँव में? हमारे हरियाणा में भी यही हाल है - लडकियां ना मिलें शादी के लिए. अब तेरी शादी हो ही गयी है तो मैंने सोचा कि बधाई के साथ, लगे हाथों, तुझे सुखी जीवन के लिए नुस्खे भी बता दूं .

एक तो उसे फेसबुक मत करने देना, भाई. ये सिर्फ  तलाक़ ही नहीं करवाता, अच्छे खासे लोगों की वाट लगा देता है. आज ही अख़बार में पढ़ा कि एक शादीशुदा औरत ने फेसबुक पर, पराये मर्द से चैटिंग करके उसके साथ चक्कर चलाया, और फिर अपने ही पति को मरवा दिया. अपनी इज्जत और जान प्यारी है तो भाभीजी को फेसबुक मत करने देना. अगर वो मर्डर ना भी करवाए, तो भी जब दूसरे मर्द लोग उसकी फोटो को या स्टेटस अपडेट को लाइक करेंगे, तो तेरे सीने में खंजर घुसेंगे.

ये फेसबुक बहुत ही वाहियात जगह है. वहां लड़कियां बेशर्मी से अपनी बेहूदा तस्वीरें लगाती हैं और मर्द लोग, चाहे जवान हो या बूढ़े, "हाय सेक्सी, आई लव यू" जैसे कमेन्ट करते हैं. मेरे अपने घर में बहु-बेटियां होती तो मैं उन्हें कभी फेसबुक नहीं करने देता. घर में तो क्या, हमारे आस-पास के गावों में भी बहु-बेटियों नहीं हैं. तभी तो मैं फेसबुक पर चैटिंग करता हूँ, यह सोचकर कि शायद कोई मिल जाये जो मेरे माँ-बाप की सेवा करे, पर सब की सब लूज केरेक्टर हैं.

वैसे तो हमारे यहाँ रिश्तेदार या लड़की वाले रिश्ता लेकर आते हैं, और माँ-बाप लेन देन की बात कर लेते हैं, पर आजकल लड़कियों की कमी हो गयी है, और जो हैं, वो परिवार में नहीं रहना चाहती. कोई अच्छी लड़की नज़र में हो तो बताना. यार, भाभीजी की कोई सीधी-सादी बहन या सहेली हो तो मेरी शादी की बात चलाना.

फेसबुक पर अपनी शादी की और दहेज़ की फोटो लगाना. टेबल फैन, सिलाई मशीन, और साईकल में ही टरका दिया, या कार भी मिली? जरा पता तो चले, भाभीजी कितने बड़े घर की हैं. और कैश कितना मिला, भाई? मुझे तो लगता है, तूने कैश के चक्कर में ही हाँ कही, वरना देखने में तो वो मुझे कोई ख़ास नहीं लगी. मुझसे पूछा होता तो मैं पहले ही मना कर देता.

अब तूने इस चिंकी से शादी कर ही ली तो उसे जरा कंट्रोल में रखना. नौकरी तो मत ही करने देना. बीवी की कमाई से क्या घर चलता है? नौकरी वाली लड़कियों के दिमाग चढ़े रहते हैं. बहुत मनमानी करने लगती हैं. उलटे-सीधे कपड़े पहनना, लड़कों से हंस-हंस कर बातें करना, देर-सबेर घर आना. क्यों मोहल्लेवालों को बोलने का मौका दिया जाये? मर्द बन मर्द. उसे घर से ज्यादा निकलने ना देना. वैसे भी ज़माना ख़राब है. यहाँ दिल्ली में तो लोग लड़कियों को कार में उठा कर ले जाते हैं और रेप कर देते हैं.

मैं तो लोगों को शक्ल देख कर पहचान जाता हूँ. तू मुझे बहुत सही आदमी लगा, इसलिए अपने दिल की बातें कह दी. पर यार, फोटो में तू जरा डरपोक और भोंदू सा दिखे है, और भाभीजी लगे हैं, तेज़ तर्रार. भाई, अपना ख्याल रखना. कुछ भी हो, बीवी से दब कर मत रहना. ओके, टा-टा, बाय-बाय, फिर मिलेंगे, होर्न प्लीज, बुरी नज़र वालों पर हो लानत, और तेरी जोड़ी रहे सलामत!

(Read the English version here: Many Congratulations Mark Zuckerberg!)

23 टिप्‍पणियां:

  1. हाहा यो मार्क भी बड़ा सीधा ना लगत है मन्ने!

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. हर्ष भाई, सीधे लोगों को तो दुनिया बेवकूफ बना देती है. थोड़ी बहुत चालाकी तो सभी को आनी चाहिए!

      हटाएं
  2. मार्क को शादी की लख-लख वधाइयाँ

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. मार्क भाई की तरफ से शुक्रिया :-)

      हटाएं
  3. tanne likh hee diya appnney dill ki baat. uddey baat pahunch hee gayee hoggi :)

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सच्चे दिल से पुकारो तो बात पहुँच ही जाती है! अगर मार्क भाई को हिंदी समझ न आती हो तो इसको अंग्रेज़ी में भी लिखवा देंगे.

      हटाएं
  4. काश मार्क को हिंदी पदनी आती ......बहुर खूब

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. मार्क के लिए अंग्रेजी में रूपांतर किया तो है पर उसमे अपनी हिंदी वाली मिठास नहीं आई :-)

      हटाएं
  5. hahahahahahahahahahahahahah
    bada tikha kataksh karti hai aap .. sach hai .. ati har sheh ki buri hoti hai ............ Grist Mill atta chakki bilkul sahi naam ......

    उत्तर देंहटाएं
  6. अगर आप हरियाणा से हैं तो कृपया एक बार इस ब्लॉग पर जरूर आईएगा
    http://bloggersofharyana.blogspot.in/

    उत्तर देंहटाएं
  7. मार्क ज़करबर्ग
    तूने शादी की
    बहुत नेक की
    हमें ज्यादा मजा
    इसलिये भी
    नहीं आया
    क्यौकि सिर्फ
    एक ही की !

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. जो ज्यादा के चक्कर में रहते हैं उन्हें एक भी नहीं मिलती!

      हटाएं
  8. चलो,मार्क के चक्कर में अपने दिल के फफोले फोड़ डाले आपने!

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. अब आपने पढ़ लिया तो फूटे हुए फफोलों पर मरहम भी लग गया :-)

      हटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...